Tuesday, April 16, 2024

RJD में लालू युग के अंत की अटकलें, Tejashwi Yadav को मिलेगी कमान! जानिए क्यों उठी चर्चा

- Advertisement -

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (RJD) में अब नेतृत्व परिवर्तन के कयास लगने लगे हैं. राजद प्रमुख और संस्थापक लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के चारा घोटाला मामले में जमानत मिलने के बाद भी अब तक बिहार नहीं पहुंच पाए हैं. इस दौरान कहा भी जा रहा है कि उनकी तबियत पहले जैसी नहीं है. ऐसे में कयास लगने लगे हैं कि राजद की कमान तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) को सौंपी जा सकती है.

तेजस्वी का दिल्ली दौरा

लालू के नजदीकी माने जाने वाले और राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह (Jagdanand Singh) के दिल्ली जाकर राजद प्रमुख से मिलने के बाद इसकी चर्चा और तेज हो गई है. तेजस्वी यादव को भी सोमवार को दिल्ली तब बुलाया गया, जब महंगाई के विरोध में राजद कार्यकर्ता सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन कर रहे थे. तेजस्वी इस कार्यक्रम का खुद नेतृत्व भी कर रहे थे, ऐसे में वे दिल्ली रवाना हो गए.

लालू युग की समाप्ति!

जगदानंद सिंह और तेजस्वी के दिल्ली पहुंचने के बाद राजद के अंदरखाने से जो खबर छनकर आ रही है उसके मुताबिक राजद में अब लालू युग की समाप्ति होने वाली है और अब तेजस्वी युग की शुरूआत होगी. हालांकि राजद के नेता इसको लेकर कुछ खास नहीं बोल रहे हैं. गौरतलब है कि जमानत मिलने के बाद लालू प्रसाद जेल से बाहर जरूर आ गए हैं लेकिन अभी तक बिहार नहीं पहुंचे हैं. ये भी गौरतलब है कि इसी दौरान वो दो बार पर वर्चुअल रूप से कार्यकतार्ओं को संबोधित कर चुके हैं.

ये भी देखें- UP चुनाव से पहले Brahmin community पर निगाहें, भगवान Parashuram की मूर्ति की होगी स्थापना

लालू प्रसाद ने भी अपने संबोधन में तेजस्वी की तारीफ और बडे नेताओं और कार्यकतार्ओं के सहयोग मिलने की बात कहकर इसके संकेत दे चुके हैं. गौरतलब है कि पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में जब कार्यकर्ता लालू प्रसाद की कमी महसूस कर रहे थे, तब तेजस्वी ने पार्टी की कमान संभाली थी. चुनाव परिणाम में तेजस्वी की मेहनत भी लोगों को देखी जब पार्टी ने राज्य में सबसे ज्याजा सीटों पर जीत दर्ज की.

यूं निकलेगा रास्ता

राजद के एक वरिष्ठ नेता और लालू परिवार के करीबी नेता ने नाम नहीं प्रकाशित करने की शर्त पर कहते हैं, खुद लालू प्रसाद भी इस बात पर गंभीरता से विचार कर रहे हैं. जगदानंद सिंह ने जब लालू यादव से मुलाकात की इस दौरान भी इस पर चर्चा हुई कि पार्टी के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी यादव को बनाया जाए. पार्टी के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी भी इस मुद्दे पर बहुत खुलकर नहीं कहते हैं. उन्होंने एक न्यूज एजेंसी से कहा, बदलाव प्रकृति का नियम है.

LIVE TV

 

Source link

Latest news

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here