Monday, April 15, 2024

भारतीय समुद्री मत्स्य पालन विधेयक पर तमिलनाडु के मुख्यमंत्री से मिलेंगे मछुआरे

- Advertisement -

भारतीय समुद्री मत्स्य पालन विधेयक पर तमिलनाडु के मुख्यमंत्री से मिलेंगे मछुआरे

IANS | Edited By : IANS | Updated on: 20 Jul 2021, 06:25:01 PM
Fihermen to

(source : IANS) (Photo Credit: (source : IANS))

चेन्नई:
तमिलनाडु के मछुआरा संगठन मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन को भारतीय समुद्री मत्स्य विधेयक, 2021 के मसौदे में खतरों से अवगत कराने के लिए मिलने की योजना बना रहे हैं।

दक्षिण भारतीय मछुआरा कल्याण संघ के अध्यक्ष के. भारती ने कहा कि मसौदा विधेयक बड़े समूहों के हितों का समर्थन करता है और यदि विधेयक को वर्तमान स्वरूप में पारित किया जाता है तो देश के तटीय क्षेत्र में इसका विरोध होगा।

आईएएनएस से बात करते हुए मछुआरे नेता ने कहा, हम मुख्यमंत्री, एमके स्टालिन से मिलने की योजना बना रहे हैं, ताकि उन्हें विधेयक में शामिल खतरों से अवगत कराया जा सके और केंद्र सरकार हितधारकों के साथ चर्चा किए बिना संसद में विधेयक को पारित करने की कोशिश कर रही है या तटीय राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ भी बात।

मछुआरों के संयुक्त संघ ने सोमवार को विधेयक के खिलाफ काला झंडा विरोध मार्च निकाला था जिसमें राज्य भर के मछुआरे आंदोलन में शामिल हुए थे।

विदुथलाई चिरुथाईगल काची (वीसीके) नेता और विल्लुपुरम निर्वाचन क्षेत्र से सांसद डी. रविकुमार ने एक वर्चुअल चर्चा के दौरान भारतीय समुद्री मत्स्य विधेयक का विरोध किया था और उन प्रावधानों के खिलाफ विरोध दर्ज कराया था जो वे कहते हैं कि मछुआरों के खिलाफ हैं।

रविकुमार ने आईएएनएस को बताया, भारतीय समुद्री मत्स्य पालन विधेयक 2021 का मसौदा मछुआरों के खिलाफ प्रावधानों से भरा हुआ है और ऐसा लगता है कि मछुआरों का कल्याण एक महत्वपूर्ण मानदंड के रूप में नहीं है। इसका उद्देश्य गरीब और असहाय मछुआरों को अपराधियों के रूप में चित्रित करना और उनसे जुर्माना इकट्ठा करना है। हमने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन से संसद में विधेयक को उसके वर्तमान स्वरूप में पारित होने से रोकने के लिए कानूनी और राजनीतिक कदम उठाने का आह्वान किया है।

अखिल भारतीय मीनावर संघम के नानजिल रवि ने कहा कि मछुआरा संगठन भारतीय समुद्री मत्स्य विधेयक के मौजूदा स्वरूप का विरोध करेंगे। मछुआरा नेता ने कहा कि मछुआरा संघों की एक संयुक्त कार्रवाई परिषद ने आने वाले दिनों में तमिलनाडु के मुख्यमंत्री की नियुक्ति की मांग की है और उन्हें स्थिति से अवगत कराने के लिए उनसे मुलाकात की जाएगी। उन्होंने कहा कि मछुआरा संघों के पास समुदाय के कल्याण के लिए विधेयक में कई सुझाव देने हैं।

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ न्यूज नेशन टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.



First Published : 20 Jul 2021, 06:25:01 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.



Source link

Latest news

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here